HomeHindi Shayariजीवन के अलग अलग पहलू के निराशा भरी जिन्दगी के शायरी Nirasha...

जीवन के अलग अलग पहलू के निराशा भरी जिन्दगी के शायरी Nirasha Shayari

आप सभी लोग हमारे इस चैनल “Rockvideozone” को Subscribe जरूर करे

Sadness Life Nirasha Zindagi Shayari in Hindi

निराशा शायरी | निराशा भरी शायरी | निराशा भरे स्टेटस | हताशा के शायरी

सुख दुःख तो जीवन के हिस्सा है कभी सुख आते है तो ढेर सारी खुशिया लाते है और जब कभी दुःख की घड़ी आते है तो अक्सर हमे निराशा का भाव दे जाते है सुख और दुःख ही यही जीवन की सच्चाई है जिससे कोई अछुता नही है,

तो चलिए आज आप सबके बीच कुछ ऐसे जीवन के अलग अलग पहलू को दर्शाती जिन्दगी शायरी जो निराशा शायरी, निराशा शायरी | निराशा भरी शायरी | निराशा भरे स्टेटस | हताशा के शायरी | Sadness Life Zindagi Nirasha Shayari शेयर कर रहे है जिन्हें आप भी दुसरो के बीच शेयर कर सकते है.

आप सभी लोग हमारे इस चैनल “Rockvideozone” को Subscribe जरूर करे

कभी सुखी कभी गम के निराशा भरी शायरी

Nirasha Zindagi Shayari in Hindi

Nirasha Shayari

निराशा शायरी 1.

वक़्त ने फिर मेरे खिलाफ
बदली अपनी धारा है
मेरा मन, फिर से हारा है

निराशा भरी शायरी 2.

क्योंकि आशाओं ने मेरा साथ छोड़ दिया
तभी निराशाओं से मैंने नाता जोड़ लिया

निराशा भरी शायरी 3.

बने बनाए रिश्ते तोड़ जाते हैं
हमारे अपने क्यों छोड़ जाते हैं

निराशा भरे स्टेटस 4.

ना जाने क्यों किस्मत मुझसे लड़ता है

रहने दो यारों इस बात से

किसी को क्या फर्क पड़ता है

हताशा के शायरी 5.

किस्मत मेरी कुछ यूं सो गई
मेहनत की गलियों में सफलता खो गई

हताशा शायरी 6.

जो पूरे ना हुए
कुछ मेरे अरमान के थे
हम उन रास्तों पर खो गए
जो रास्ते मेरे पहचान के थे

हताशा के शायरी 7.

आंखों में आंसू थे
मगर हम रो ना सके
पूरी शिद्दत से वफा के
फिर भी उनके हो ना सके

हताशा भरे शायरी 8.

मेरी किस्मत मुझ से
कुछ यूं जुआ खेलती है
तमाशा बनाती है मेरे काम का
मेरी मेहनत को रुसवा करती है

Nirasha Zindagi Shayari in Hindi 9. 

मैं उस वक़्त टूट गया
जब अपनों का साथ छूट गया
शिकायत भी हम कैसे करते
वो अपना ही था, जो हमें लूट गया

Sadness Shayari 10.

किस्मत जैसी चीज को
मैं कहां मानता था
होगा हार से सामना
यह कहां मैं जानता था
जो हार है मिली
तो मैं यह जाना हूं
होती है किस्मत भी कुछ
अब ये मैं माना हूं

Life Nirasha Shayari 11.

कैसे कहूं कितनी सर्द भरी रातों में मुझे सुलाया है

किस्मत ने मुझे कितना रुलाया है

निराशा भरी शायरी 12.

वक़्त के पास हमें रुलाने के मंसूबे है
आज कल मेरे दिन-रात गम में डूबे हैं

निराशा भरी शायरी 13.

दर्द में डूबे हैं हम
हमसे हमारा हाल ना पूछिए
वक़्त ने सुर बिगड़ दिए हैं
किस्मत की ताल ना पूछिए

निराशा भरे स्टेटस शायरी 14.

तारों की चादर ओढ़
ये दुनिया सो गई
हम ऐसे दर्द में डूबे हैं
कि रात लंबी हो गई

निराशा भरी शायरी 15.

हंसी के पीछे गम छुपा लेते हैं
इतनी आसानी से सबको मूर्ख बना लेते हैं

हताशा के शायरी 16.

खुशियों ने ऐसे मुंह मोड़ा है
जब अपनों की जरूरत पड़ी
तभी सबने साथ छोड़ा है

Zindagi Nirasha Shayari 17.

किसी के भी काम ना आऊं
मैं वो सूखी राख हूं
मुझसे कभी कोई नहीं कहता
चिंता मत करो, मैं तुम्हारे साथ हूं

जिन्दगी के Nirasha Shayari 18.

मेरे मुकद्दर से
खुशियों की ऐसी सफाई की है
किस्मत ने मेरे साथ
बहुत बड़ी बेवफाई की है

निराशा भरी जिन्दगी के शायरी 19.

गम में डूबी
मेरी हर आंहे हैं
मंजिल का पता नहीं
और कांटों भरी राहें हैं

Sadness Life Zindagi Nirasha Shayari 20.

कोई है नहीं, जो मेरे सर पर रखे हाथ
तरस रहे हैं हम, पाने को अपनों के साथ

तो आप सभी को ये निराशा शायरी | निराशा भरी शायरी | निराशा भरे स्टेटस | हताशा के शायरी कैसे लगे हमे जरुर बताये और इन शायरियों को शेयर भी जरुर करे.

इन शायरियों को भी पढ़े

4.9/5 - (39 votes)
Share करे
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

close button