ठंडी सर्दी मौसम के रोमांटिक प्यार के शायरी

Winter Sms Shayari In Hindi For Girlfriend | Sardi Romantic Love Shayari | Winter Shayari Sms In Hindi For Girlfriend Boyfriend in Hindi

ठंडी सर्दी मौसम के शायरी | सर्दी मौसम के हिन्दी शायरी

सर्दी का मौसम बड़ा ही कपकपी देने वाला होता है ऐसे में हर प्रेमी प्रेमिका अपने प्यार के यादो में खोया रहता है एक तरफ जहा कड़कड़ाती ठंड तो दूसरी तरफ अपना प्यार दोनों ही बेचैन करने वाले होते है

तो चलिए आज हम आप सबके लिए इसी कड़कड़ाती ठण्डी के सदी के प्यार भरे रोमांटिक शायरी शेयर कर रहे है जो आप अपने प्यार की यादो में शेयर कर सकते है

ठंडी सर्दी मौसम के रोमांटिक शायरी | सर्दी वाले रोमांटिक शायरी | सर्दी के लव शायरी

Thand Mausam Par Shayari | Romantic Winter Shayari For Girlfriend Boyfriend In Hindi

Romantic Winter Shayari Image

1.
ठंड बड़ा हरजाई है
सोने के लिए
ढकना पड़ता रजाई है

2.
ठंड बहुत है
ज्यादा ठंड ना झेलो
रजाई, ले लो कंबल, ले लो

3.
सोना ना पड़े तुम्हें जाड़े (ठंड) में
इसलिए ले लो रजाई भाड़े में

4.
दुश्मन को भी ऐसी सजा ना मिले
नहाना पड़े ठंड में
ऐसा किसी के साथ खुदा ना करे

5.
धूप में बैठे-बैठे बेगरिया (फालतू)
ठंड में सब हो जाते हैं करिया (काला)

6.
ठंड से निपटने का प्लान बना लो
रिश्ता ढूंढो और ब्याह रचा लो

7.
गर्मी में सब कहते हैं की
ठंडी-ठंडी आइसक्रीम खा लो
और ठंड में सब कहते हैं की
गरमा-गरम अंडा खा लो

8.
इस दुविधा से हम कभी नहीं निकल पाएं
बहुत ठंड है, नहाएं या ना नहाएं

9.
काम-वाम को मारो डंडी
रजाई में घुसकर सो जाओ
क्योंकि पड़ी है बहुत ठंडी

10.
ठंड में एक अलग सी लत लग जाती है
धूप की गर्मी, आग की तपन बहुत भाती है

11.
सभी काम के झंझटों से दूर
ठंड में सब सोते हैं भरपूर

12.
सुबह जल्दी उठने नहीं देता
यह बड़ा बेदर्दी है
जो नहाने ना दे
उसी मौसम का नाम सर्दी है

13.
अंगीठी जलाओ जल्दी-जल्दी
अब मौसम में बढ़ गई है सर्दी

14.
सर्दी में ये बीमारियां आम है
इनका नाम सर्दी, खांसी, जुखाम है

15.
जल्दी उठ, टाइम देख ले जरा
फिर रजाई में घुसने चला है तू
अभी भी नहाने की हिम्मत नहीं
ना जाने कैसे बचपन में पला है तू

16.
सबकी बैंड इसने बजाई है
बर्फीली ठंड फिर आई है

17.
मोहब्बत भरी हो जाती हैं फिजाएं
जब चलती है सर्द हवाएं

18.
शुरू हो जाती हैं मोहब्बत की बातें
कमाल कर जाती हैं ठंड भरी रातें

19.
ठंड ने फिर सितम ढाया है
मां ने बच्चे को,
कूट कूटकर नहलाया है

20.
कपड़े बदलकर काम चला लूंगा
आज बहुत ठंडी है, कल नहा लूंगा

Must Read:- 

इस पोस्ट को शेयर करे :-

2 Comments

Add a Comment
  1. kya aapne ye blogspot pe bnaya hai ? matalab apne sirf domain name buy kiya hai kya ?
    please aap mujhe reply kro

    1. Sonu 1HindiShare WordPress par banaya gaya hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *