छठ पूजा के गीत Chhath Puja Geet Gaana Song in Hindi

छठ पूजा हिन्दू धर्म का विशेष व्रत त्योहार है, जो की छठ पूजा (Chhath Puja) कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष में मनाया जाता है, यह त्योहार दिवाली से ठीक आगे छठे दिन पड़ता है, जो की अधिकतर उत्तरी पूर्वी भारत के लोगो का एक प्रमुख पर्व है, छठ पूजा मे उगते हुए और डूबते हुए सूर्य की आराधना की जाती है, जो की सबसे कठिन व्रत माना जाता है, जिसमे छठ पूजा व्रत में सूर्य देव की आराधना किया जाता है जिसमे सम्पूर्ण परिवार के मंगल की कामना की जाती है, और भगवान सूर्य और माँ छठी की आशीर्वाद की मांगा जाता है।

तो चलिये इस छठ पूजा के लिए छठ पूजा के गीत, Chhath Puja Geet, Chhath Puja Gaana, Chhath Puja Song शेयर कर रहे है, जिसे आप सभी छठ पूजा के लिए इन छठ पूजा गीत को लोगो को छठ पूजा की शुभकामनाए देने के लिए Facebook, Whatsapp, Parents, Friends, हर किसी के लिए शेयर कर सकते है।

छठ पूजा के गीत

Chhath Puja Geet in Hindi

Chhath Puja Geet Gaana in Hindiकाच्चे ही बांस के बहंगिया ,

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,

होए ना बलम जी कहरिया  ,

बहंगी घाटे पहुंचाए,,,,,,,,,,,,,

कांच ही बांस के बहंगिया,

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,,,

बाट जे पूछे ना बटोहिया ,

बहंगी केकरा के जाय,,,,,,,,,,,

तू तो आंध्र होवे रे बटोहिया ,

बहंगी छठ मैया के जाए,,,,,,,,,,,,,,

वह रे जे बाड़ी छठी मैया ,

छठ पूजा पर्व व्रत विधि कथा इतिहास और महत्व Chhath Puja in Hindi

बहंगी उनका के जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

कांच ही बांस के बहंगिया

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

होए ना देवर जी कहरिया ,

बहंगी घाटे पहुंचाई ,,,,,,,,,,,,,

वह रे जो बाड़ी छठी मैया

बहंगी उनका के जाए ,,,,,,,,,,,,

बाटे जे पूछे ना बटोहिया

बहंगी केकरा के जाय ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

तू तो आन्हर  होय रे बटोहिया

बहंगी छठ मैया के जाए ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

वह रे जय भइली छठी मैया ,

बहंगी उनका के जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

{Best 2020} Chhath Puja wishes | Happy Chhath Puja Wishes Hindi | छठ पूजा शुभकामनाये

छठ पूजा के गीत

Chhath Puja Geet in Hindi

सोना सट कुनिया, हो दीनानाथ

हे घूमइछा संसार, हे घूमइछा संसार

आन दिन उगइ छा हो दीनानाथ

आहे भोर भिनसार, आहे भोर भिनसार

आजू के दिनवा हो दीनानाथ

हे लागल एती बेर, हे लागल एती बेर

बाट में भेटिए गेल गे अबला

एकटा अन्हरा पुरुष, एकटा अन्हरा पुरुष

अंखिया दियेते गे अबला

हे लागल एती बेर, हे लागल एती बेर

बाट में भेटिए गेल गे अबला

एकटा बाझिनिया, एकटा बाझिनिया

बालक दियेते गे अबला

हे लागल एती बेर, हे लागल एती बेर..

{Best 2020} Chhath Puja Shayari | Chhath Puja Shayari in Hindi | छठ पूजा शायरी

छठ पूजा के गीत

Chhath Puja Geet in Hindi

केलवा के पात पर उगे लन सुरुजमल झांके – झुके।

के करेलू छठ बरतिया से झांके – झुके।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी,

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

हमरो जे बेटवा तोहन अइसन बेटावा से उनके लागी।

से करेली छठ बरतिया से उनके लागी।

अमरूदिया के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके।

के करेलू छठ बरतिया से झाके – झुके।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी। ।

हमरो जे स्वामी तोहन अइसन स्वामी से उनके लागी।

से  करेली छठ बरतिया के उनके लागी।

नारियर के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके।

के करेली छठ बरतिया से झांके – झुके। ।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया से केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

हमरो जे बेटी तोहन बेटिया से उनके लागी।

से करेली छठ बरतिया से उनके लागी।

छठ पूजा की कविता Chhath Puja Kavita Poem Poetry in Hindi

छठ पूजा के गीत

Chhath Puja Geet in Hindi

आठ ही के काठ के कोठरिया  हो दीनानाथ , रूपे छा~ने लागल केवाड़।

ताहि ऊपर चढ़ी सुतले हो दीनानाथ बांझी केवडूवा धइले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

पुत्र संकट पडल , मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडूवा धईले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

नैना संकट पड़ल मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

काया संकट पडल मोरा हो दीनानाथ ,ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

बांझीनी के पुत्र जब , दिहले दीनानाथ खेलत-कुदत घर जात।

अन्हरा के आंख दिहले कोढ़िया के कायावा हसत बोलत घर जात।

छठ पुजा के इन पोस्ट को भी पढे :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *